एक तूफान उठा ,
और,
समंदर खंगाल गया .
बहुत उठा-पटक हुई,
समंदर के  पानी में ,
लेकिन,
एक बात सही हुई ,
मोती सा पानी रह गया ,
और ,
कचरा किनारा ही छोड़ गया.

Comments

  1. aesa hi tuphan asal jindgi me bhi ek baar jarur aata hai so apne bhitar jo kachara hota hai wo bhi bah kar chaja jata hai or hume bafi kuch sikha jata hai..

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

सावन के अंधे को, हरा ही हरा , नज़र आता है.

ब्रह्म-राक्षस