Thursday, 8 November 2012

आज के हाइकू - रब जो मिला .




*********************

देखा उस को  ,
हुआ आनन लाल ,
कमल बना .

*********************

निरा बांस था,
जब से होंठ चढ़ा ,
बंसी ही जाना .

********************

कोरा कागज़
ढाई आखर ले के ,
दिल पे आया.

********************

तुम जो आये ,
भरी दुपहरी में ,
सावन आया .

********************

सब दे कर ,
सब कुछ पा लिया ,
रब जो मिला .

********************

No comments:

Post a Comment